Breaking News: वायरल वीडियो को लेकर बोले Rakesh Tikait- उनके बातों का गलत मतलब निकाला गया



Delhi में हिंसा के छींटेस भारतीय किसान यूनियन पर भी पड़े. इस दौरान Rakesh Tikait का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वो …

Related Posts

40 thoughts on “Breaking News: वायरल वीडियो को लेकर बोले Rakesh Tikait- उनके बातों का गलत मतलब निकाला गया

  1. राकेश टिकैत नक्सलवादियों की भाषा बोल रहा है
    रासुका के तहत मामला दर्ज कर जैल में डालो

  2. Is Biyan me rakes teket ne drink ki hui he ye to saaf dik rha he Bhai is ke vajehe se Delhi me ye sab kuch huaa he

  3. 1.जिसके पास मोबाइल हो, मोबाइल में जीपीएस हो
    2.जिसके पास 6 लाख का ट्रैक्टर हो
    आज के जमाने के 5 लोग इकट्ठे बैठे हो,
    3.आम दिनों के मुकाबले दिल्ली की सड़कों पूरी तरह खाली हो, ओर पूरी दिल्ली में ब्लू कलर के बड़े बड़े साइन बोर्ड है
    4. बस अड्डे तक अा गए हो, अक्षरधाम तक अा गए हो, पंजाबी बाग तक अा गए हो, तो तब तक भी एक आम आदमी को पता तक नहीं चला कि हम रास्ता भटक गए, ये आउटर रिंग रोड नहीं हो सकता
    तो ये कैसे कह सकते है कि रास्ता भटक गए, ओर मान लिया रास्ता भटक गए तो क्या भटक कर सारे के सारे लाल किले तक पहुंच गए

  4. Why should we give tax if these type of chor damage private and public property and we are responsible for the damage? collect the money from them. If not how could Modiji is a good PM? He is not better than any other political party'. Our hard earn money can't be wasted on these terrorists. Sambhala nahin jata chale rally karne. Darpok kahinke.

  5. Salaa jis flag ka liya hum jaan hatali pa laka gumta h usi ka tuna insult ki
    Jis ka liya bacchapan sa kasam khata h uski bazatee kar ka apni ko shi bata raha tera liya tho gali bhi kaam h

  6. झंडा और डंडा..
    देश चलाने के लिए दोनों बहुत जरूरी होते हैं
    झंडे से भी लंबा उसका डंडा होना चाहिए ..
    झंडा फहरा लिया न .. अब खालिस्तानियों और जेहादियों के गांव में डंडा दे दो,
    जो किसान का रूप धर के उत्पात कर रहे हैं

  7. Ye tikait ji baar baar "zameen nahi bach rahi" kyu bolte hain zameen par kabza kaun karne ja raha hai. Ye logo ko gumraah q ka Rahe hain??

  8. उन्होंने बोला हैं कि झंडा लगाने के लिए लाठी लाना।
    सालों बिके हुए मीडिया तुम तो सिर्फ
    गू ही हंगोगे।

  9. जब मीडिया ही किसी बात को गलत तरीके से पेश करें तो जनता क्या जाने कि हुआ क्या?

  10. Yhi boal rhe garib kishan ko chadhakr maza mar rhe abhi bhi boal rhe inke aadmi nhi hain abhi waqt hai in netwo se dur rho

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *