हुंकार : किसान 'आंदोलनजीवी' किसके परजीवी? | Rubika Liyaquat | Farmers Protest | ABP News



हुंकार : मोदी हैं तो किसान ‘मौका’ लेंगे? | Rubika Liyaquat | Farmers Protest | ABP Information Prime Minister Narendra Modi made an enchantment to the …

Related Posts

32 thoughts on “हुंकार : किसान 'आंदोलनजीवी' किसके परजीवी? | Rubika Liyaquat | Farmers Protest | ABP News

  1. Yhi sare sb godi midia h.modi ke speech me kya kamiya Hai ye nhi batayege sale sb. Eakdam se sb chamche ho gye h.

  2. जो मोदी जी का विरोध करे वो गद्दार जो भाजपा की नीतियों का विरोध करे वो देश द्रोही जो आनदोलन करे इनके लाये कानून का वो आनदोलनजीवी गेंग वाह मोदी जी वाह,,,,शायद आप भूल गये इस देश की नीव ही आन्दोलन पर रखी गई है लाखो भारत वासियो ने अपना लहू भहाया अंग्रेज़ो के खिलाफ़ आंदोलन करके कुछ तो सोच समझ कर बोला करिये आप दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र पर आप विराजमान हैं ज़रूरी नहीं जो आपकी प्रशंसा करे वो ही देश भक्त है आपकी नीतियों का विरोध करने वाला हर भारत वासी भी उतना ही देश भक्त है जितना आप हो,,,,जय हिंद जय भारत 🇮🇳

  3. रुबिका लियाकत आप अल्लाह से डरो सच्ची बात सच्ची बात को सच्चा सवाल। करो
    जय जवान जय किसान

  4. Modijine kisan andolan ka majak uda ke thik nahi kiya. Kisanose mafi mange. Channel ko 70% se jyada unlike aa rahe samazjao channel kis raste pe ja raha.

  5. Mai vtata hu realty:-
    Mahi pal Singh live in (RJ) appointed SHO Narela police station heave a long time ago wrong activity involved it's person rumzan,Ramjan,rumjan(Rajpal Tomar murder case nearby railway bridge Bankner Swatantra Nagar).
    M:-Mahi
    P:-Pal
    S:-Singh

    MSP=three-point into one man rumjan,
    N1A4R2 three point into one= nad
    N:-Narayana into Rakesh Chohan & Pramod Chauhan,
    A:-Ashok vihar into dharmveer Chauhan,
    D:-Dehradun into Vipin Chauhan

    Jai Hind Jai Bharat

  6. तुम मिडिया वाले हमेशा विपक्ष को ही हर चीज़ में दोशी टेहराते रहोगे साला जनता को खूब चूतिया बनाया तुम मिडिया वालो ने

  7. कोरोना काल में कृषि कानून पर अध्यादेश लाकर और ध्वनि मत से राज्य सभा में पास कराकर तत्परता से लागू करने का परिणाम सरकार के साथ साथ पब्लिक भी झेल रही है जिसे पूरी चर्चा होने पर लाना चाहिए था लेकिन सरकार को भी पूर्ण बहुमत में होने का घमण्ड था

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *